For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 87423408
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: किशनगढ़ हवाई अड्डे पर लैंडिंग के दौरान प्लेन हुआ क्रैश |  Ajmer Breaking News: 1 जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक पर लगने वाले प्रतिबंध से पूर्व व्यापारियों में है असमंजस |  Ajmer Breaking News: हरीभाऊ उपाध्याय विस्तार डी ब्लॉक में सूने मकान को चोरों ने बनाया निशाना |  Ajmer Breaking News: बाल श्रम के कारणों जोखिमों और दुष्प्रभावों पर कार्यशाला के साथ जिला कलेक्टर को सौंपा मांगपत्र |  Ajmer Breaking News: तहसीलदार ब्यावर बेनी प्रसाद सरगरा को हटाने तक जारी रहेगा पटवार संघ और कानूनगो संघ का धरना |  Ajmer Breaking News: जिला परिषद में जन सुनवाई व जिला स्थापना समिति की बैठक का आयोजन |  Ajmer Breaking News: उधार ली गई रकम चुकाने के बावजूद भी परिवादी को धमकाने और परेशान करने का आरोप  |  Ajmer Breaking News: मई,जून माह का वेतन पेंशन और बकाया सेवानिवृत्ति परिलाभों का अविलंब भुगतान करने की मांग को लेकर रोडवेज कर्मियों का प्रदर्शन |  Ajmer Breaking News: स्थानीय निधि अंकेक्षण विभाग की संभागीय प्रशासनिक समिति की बैठक |  Ajmer Breaking News: अलवर गेट थाना अंतर्गत बकरियों के रेवड़ में से 13 बकरियां चोरी होने का मामला दर्ज | 

Guest-writer News:

March 5, 2022

क़लमकार: ये जीवन और कुछ नहीं  बस खेल है छुपन – छुपाई का

क़लमकार: खोजते खोजते अचानक से खुद को पा लेना 

March 4, 2022

क़लमकार: तानाशाह एक डरपोक आदमी

क़लमकार: तानाशाह को डर पैदा होता है कि गधे भी मेरे खिलाफ़ साजिश कर रहे हैं

February 25, 2022

क़लमकार: युद्ध के बाद  कोई उम्मीद नहीं बचती

क़लमकार: जिन्हें युद्ध नहीं चाहिए अंत में वे भी मारे जाते हैं

February 23, 2022

क़लमकार: सजाने वालों ने घरों में कैक्टस भी सजाया है।

क़लमकार: गुलाब नहीं होने के लिए कोसेंगे मत सुनना

February 21, 2022

क़लमकार: मैं नहीं बनाना चाहता था बंधन को बेड़ियाँ

क़लमकार: यह जानते हुए कि एक साथ रहने के लिए  कोई बंधन चाहिए 

February 20, 2022

क़लमकार: सारी कविताएं जो  राजनीति पर लिखी गई इतना ऊपर चढ़ी पर कुर्सी के नीचे है

क़लमकार: सारी कविताएं जो लिखी गई स्त्री की दशा पर दिशा भ्रमित होकर अभी भी मंच पर है

February 19, 2022

क़लमकार: कल मैं चतुर था, इसलिए मैं दुनिया बदलना चाहता था

क़लमकार: आज मैं बुद्धिमान हूँ, इसलिए मैं अपने आप को बदल रहा हूँ

February 18, 2022

क़लमकार: जानवर को खूँटे से बाँधना पड़ता है, आदमी को बाँधना नहीं पड़ता

क़लमकार: वह अपना खूँटा ढूँढ़ता है और ख़ुद ही बँध जाता है।

February 15, 2022

क़लमकार: औरतों को आज़ादी के लिये सबसे पहले हथियार उठाने की जगह गहने उतारने चाहिए

क़लमकार: घुंघरू वाली पायल बजने वाले कंगन आवाज़ करते झुमके और सारे गहने

November 11, 2021

क़लमकार: वो जीवन ही बस जीवन है जो देश के लिए काम आए

क़लमकार: वो मौत नहीं वो मुक्ति है जहाँ हँसते हँसते प्राण जाएं -मिशा नरेश

November 9, 2021

क़लमकार: जयशंकर प्रसाद और मुंशी प्रेमचंद

क़लमकार: चित्र-- मृत्यु से दो दिन पहले का, प्रेमचंद जी की सेवा करती शिवरानी देवी। जमाना (ऊर्दू) अक्टूबर 1936 कानपुर  मे प्रकाशित।

October 29, 2021

क़लमकार: आओ जलाए प्रेम का दिया, फिर एक बार 

क़लमकार: आई है दिवाली, अमावस के बाद 




Google Ads


Horizon Career Consultant
ABS Hospital
Vijay Bakery

Video Gallery


Google Ads

© Copyright Horizonhind 2022. All rights reserved