For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 88170517
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: आजादी के 75 वें अमृत महोत्सव के तहत भारतीय जनता युवा मोर्चा ने निकाली तिरंगा रैली |  Ajmer Breaking News: ऑल इंडिया रेलवे मेंस  फेडरेशन के आह्वान पर नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एंप्लाइज यूनियन ने किया प्रदर्शन  |  Ajmer Breaking News: वर्ष 2017 में रामगंज थाना क्षेत्र में किराये पर रहने आयी विवाहिता ने 5 साल बाद लगाया दुष्कर्म का आरोप |  Ajmer Breaking News: रामगंज थाना अंतर्गत 28 जुलाई को हुई चोरी के मामले में दो आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार |  Ajmer Breaking News: मोहर्रम की 10 तारीख को खेला गया बड़ा हाईदोस, डोले शरीफ की निकली सवारी |  Ajmer Breaking News: कलेक्टर के आदेशों की पालना नहीं कर रहा पुष्कर का विद्युत महकमा |  Ajmer Breaking News: पुष्कर के नए रंग जी मंदिर में आयोजित झूला महोत्सव में एकादशी के अवसर पर उमड़ी भीड़ |  Ajmer Breaking News: प्रदेश को मिली पहले नेशनल सैंड आर्ट पार्क की सौगात  |  Ajmer Breaking News: आजादी के अमृत महोत्सव महापर्व में हो जन-जन की सहभागिता,अमृत स्वरूप राष्ट्रीय ध्वज उपलब्ध कराएगा प्रबुद्ध जन प्रकोष्ठ |  Ajmer Breaking News: स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारियों को आमजन की तकलीफों से नहीं कोई वास्ता, सड़के खड्डों में तब्दील होकर हो गई खस्ता | 

Guest-writer News:

March 5, 2022

क़लमकार: ये जीवन और कुछ नहीं  बस खेल है छुपन – छुपाई का

क़लमकार: खोजते खोजते अचानक से खुद को पा लेना 

March 4, 2022

क़लमकार: तानाशाह एक डरपोक आदमी

क़लमकार: तानाशाह को डर पैदा होता है कि गधे भी मेरे खिलाफ़ साजिश कर रहे हैं

February 25, 2022

क़लमकार: युद्ध के बाद  कोई उम्मीद नहीं बचती

क़लमकार: जिन्हें युद्ध नहीं चाहिए अंत में वे भी मारे जाते हैं

February 23, 2022

क़लमकार: सजाने वालों ने घरों में कैक्टस भी सजाया है।

क़लमकार: गुलाब नहीं होने के लिए कोसेंगे मत सुनना

February 21, 2022

क़लमकार: मैं नहीं बनाना चाहता था बंधन को बेड़ियाँ

क़लमकार: यह जानते हुए कि एक साथ रहने के लिए  कोई बंधन चाहिए 

February 20, 2022

क़लमकार: सारी कविताएं जो  राजनीति पर लिखी गई इतना ऊपर चढ़ी पर कुर्सी के नीचे है

क़लमकार: सारी कविताएं जो लिखी गई स्त्री की दशा पर दिशा भ्रमित होकर अभी भी मंच पर है

February 19, 2022

क़लमकार: कल मैं चतुर था, इसलिए मैं दुनिया बदलना चाहता था

क़लमकार: आज मैं बुद्धिमान हूँ, इसलिए मैं अपने आप को बदल रहा हूँ

February 18, 2022

क़लमकार: जानवर को खूँटे से बाँधना पड़ता है, आदमी को बाँधना नहीं पड़ता

क़लमकार: वह अपना खूँटा ढूँढ़ता है और ख़ुद ही बँध जाता है।

February 15, 2022

क़लमकार: औरतों को आज़ादी के लिये सबसे पहले हथियार उठाने की जगह गहने उतारने चाहिए

क़लमकार: घुंघरू वाली पायल बजने वाले कंगन आवाज़ करते झुमके और सारे गहने

November 11, 2021

क़लमकार: वो जीवन ही बस जीवन है जो देश के लिए काम आए

क़लमकार: वो मौत नहीं वो मुक्ति है जहाँ हँसते हँसते प्राण जाएं -मिशा नरेश

November 9, 2021

क़लमकार: जयशंकर प्रसाद और मुंशी प्रेमचंद

क़लमकार: चित्र-- मृत्यु से दो दिन पहले का, प्रेमचंद जी की सेवा करती शिवरानी देवी। जमाना (ऊर्दू) अक्टूबर 1936 कानपुर  मे प्रकाशित।

October 29, 2021

क़लमकार: आओ जलाए प्रेम का दिया, फिर एक बार 

क़लमकार: आई है दिवाली, अमावस के बाद 




Google Ads


Horizon Career Consultant
ABS Hospital
Vijay Bakery

Video Gallery


Google Ads

© Copyright Horizonhind 2022. All rights reserved