For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 89015859
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: बूढ़ा पुष्कर रोड स्थित भट्बावड़ी प्राचीन गणेश मंदिर पर गणेश चतुर्थी को लगा भक्तों का मेला |  Ajmer Breaking News: तीर्थ नगरी पुष्कर में घर घर दर्शन देने पहुंचे प्रथम पूज्य गणपति |  Ajmer Breaking News: एडीएम सिटी भावना गर्ग ने ली बैठक,लम्पी ग्रसित गायों की देखभाल के लिए टीमों का किया गठन |  Ajmer Breaking News: नकली सोने की ईंट बेचने मेदिनीपुर पश्चिम बंगाल से अजमेर पहुंचे 3 ठग चढ़े पुलिस के हत्थे |  Ajmer Breaking News: सिविल लाइंस थाने में धोखाधड़ी और चोरी के 2 मुकदमे दर्ज |  Ajmer Breaking News: श्री योग वेदांत सेवा समिति के तत्वाधान में महिलाओं ने ब्लेक डे मनाते हुए कलेक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन |  Ajmer Breaking News: शतायु हो चुके स्वतंत्रता सेनानी किशन अग्रवाल का हुआ निधन |  Ajmer Breaking News: घरों और पंडालों में विराजे प्रथम पूज्य गणपति, बुधवार दोपहर 12 बजे हुई जन्म आरती |  Ajmer Breaking News: भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को घर-घर विराजेगें विघ्नहर्ता भगवान श्रीगणेश,  |  Ajmer Breaking News: जिला परिषद के सभागार में साप्ताहिक जनसुनवाई का आयोजन | 

अजमेर न्यूज़: स्थानीय निधि अंकेक्षण विभाग की संभागीय प्रशासनिक समिति की बैठक

Post Views 421

June 28, 2022

संभागीय आयुक्त बी.एल. मेहरा की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में संभाग की प्रगति की समीक्षा

स्थानीय निधि अंकेक्षण विभाग की संभागीय प्रशासनिक समिति की बैठक मंगलवार को संभागीय आयुक्त बी.एल. मेहरा की अध्यक्षता में आयोजित हुई।
बैठक में विभाग के अतिरिक्त निदेशक शेलेन्द्र कुमार परिहार ने संभाग की प्रगति से अवगत कराया।
संभागीय आयुक्त बी.एल. मेहरा ने कहा कि स्वायत्तशासी संस्थाओं में बकाया सामान्य आक्षेपों, ए एवं बी श्रेणी आक्षेपों तथा गबन प्रकरणों का तत्काल प्रभाव से निस्तारण किया जाए। बकाया प्रथम अनुपालना प्रकरण एवं बकाया अंकेक्षण शुल्क संबंधित प्रकरणों का भी निस्तारण सुनिश्चित किया जाए। विभिन्न ऑडिट पैरा से जुड़े प्रकरणों के लिए प्रत्येक स्वायत्तशासी संस्था को नोडल अधिकारी नियुक्त करना चाहिए। आक्षेपों के त्वरित निस्तारण के लिए शिविर भी लगाए जाये।  
उन्होंने कहा कि विभिन्न आक्षेपों की अनुपालना रिपोर्ट लेखा अधिकारी नियंत्रण अधिकारी के माध्यम से निधि अंकेक्षण विभाग को भेजेंगे। विभिन्न स्तरों पर पेंडिंग वसूली प्रकरणों पर विशेष ध्यान दिया जाना आवश्यक है। इस प्रकार के प्रकरणों का गंभीरता के साथ त्वरित निस्तारण किया जाना चाहिए। गबन के प्रकरणों पर प्राथमिकता के साथ एफआईआर दर्ज करने की कार्यवाही की जाए। यह कार्य नियंत्रण अधिकारी के द्वारा किया जाए। गबन करने वाले कार्मिकों से सम्पूर्ण राशि ब्याज सहित वसूलने का प्रयास हो।
बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों को कारण बताओं नोटिस किए जाएंगे।
इस अवसर पर अजमेर विकास प्राधिकरण के आयुक्त अक्षय गोदारा, सचिव किशोर कुमार, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुरारी लाल वर्मा एवं शिप्रा जैन, स्थानीय निकाय विभाग की उपनिदेशक श्रीमती अनुपमा टेलर, देवस्थान विभाग के सहायक आयुक्त  गौरव सोनी, जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक रवीश शर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


© Copyright Horizonhind 2022. All rights reserved