For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 87422441
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: किशनगढ़ हवाई अड्डे पर लैंडिंग के दौरान प्लेन हुआ क्रैश |  Ajmer Breaking News: 1 जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक पर लगने वाले प्रतिबंध से पूर्व व्यापारियों में है असमंजस |  Ajmer Breaking News: हरीभाऊ उपाध्याय विस्तार डी ब्लॉक में सूने मकान को चोरों ने बनाया निशाना |  Ajmer Breaking News: बाल श्रम के कारणों जोखिमों और दुष्प्रभावों पर कार्यशाला के साथ जिला कलेक्टर को सौंपा मांगपत्र |  Ajmer Breaking News: तहसीलदार ब्यावर बेनी प्रसाद सरगरा को हटाने तक जारी रहेगा पटवार संघ और कानूनगो संघ का धरना |  Ajmer Breaking News: जिला परिषद में जन सुनवाई व जिला स्थापना समिति की बैठक का आयोजन |  Ajmer Breaking News: उधार ली गई रकम चुकाने के बावजूद भी परिवादी को धमकाने और परेशान करने का आरोप  |  Ajmer Breaking News: मई,जून माह का वेतन पेंशन और बकाया सेवानिवृत्ति परिलाभों का अविलंब भुगतान करने की मांग को लेकर रोडवेज कर्मियों का प्रदर्शन |  Ajmer Breaking News: स्थानीय निधि अंकेक्षण विभाग की संभागीय प्रशासनिक समिति की बैठक |  Ajmer Breaking News: अलवर गेट थाना अंतर्गत बकरियों के रेवड़ में से 13 बकरियां चोरी होने का मामला दर्ज | 

अजमेर न्यूज़: सीजेएम 6 की ओर से 156/ 3 सीआरपीसी के तहत अलवर गेट थाने में दर्ज हुआ धोखाधड़ी का मुकदमा

Post Views 281

May 29, 2022

परिवादी से स्टूडियो खोलने के लिये लिए गए पैसे नहीं लौटाने पर न्यायालय के जरिये दर्ज हुआ परिवाद

अलवर गेट थाने के उपनिरीक्षक मोहम्मद जाबिर ने न्यायालय संख्या 6 सीजेएम की ओर से 156/3 सीआरपीसी में अलवर गेट थाने को डाक द्वारा प्रेषित किए गए परिवाद की जानकारी देते हुए बताया कि परिवादी जगदीश पुत्र दामोदर दाधीच ने प्रकरण दर्ज कराया है। जिसमें उसने बताया कि उसका एक जानकार जालौर निवासी प्रकाश वैष्णव को स्टूडियो खोलना था लिहाजा उसने मुझसे पैसों की मांग की तो मैंने उसे अलग-अलग ट्रांजैक्शन के माध्यम से आरटीजीएस कर उसके खाते में 1 लाख 20 हजार रुपये ट्रांसफर किए थे। लेकिन उसने तय समय पर पैसे वापस नहीं लौटाए और अब वह पैसे देने में आनाकानी कर रहा है। जिस पर न्यायालय में परिवाद पेश किया गया है। न्यायालय से मिले परिवाद पर आईपीसी की धारा 420 में प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान किया जा रहा है।


© Copyright Horizonhind 2022. All rights reserved