For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 88169372
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: ऑल इंडिया रेलवे मेंस  फेडरेशन के आह्वान पर नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एंप्लाइज यूनियन ने किया प्रदर्शन  |  Ajmer Breaking News: वर्ष 2017 में रामगंज थाना क्षेत्र में किराये पर रहने आयी विवाहिता ने 5 साल बाद लगाया दुष्कर्म का आरोप |  Ajmer Breaking News: रामगंज थाना अंतर्गत 28 जुलाई को हुई चोरी के मामले में दो आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार |  Ajmer Breaking News: मोहर्रम की 10 तारीख को खेला गया बड़ा हाईदोस, डोले शरीफ की निकली सवारी |  Ajmer Breaking News: कलेक्टर के आदेशों की पालना नहीं कर रहा पुष्कर का विद्युत महकमा |  Ajmer Breaking News: पुष्कर के नए रंग जी मंदिर में आयोजित झूला महोत्सव में एकादशी के अवसर पर उमड़ी भीड़ |  Ajmer Breaking News: प्रदेश को मिली पहले नेशनल सैंड आर्ट पार्क की सौगात  |  Ajmer Breaking News: आजादी के अमृत महोत्सव महापर्व में हो जन-जन की सहभागिता,अमृत स्वरूप राष्ट्रीय ध्वज उपलब्ध कराएगा प्रबुद्ध जन प्रकोष्ठ |  Ajmer Breaking News: स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारियों को आमजन की तकलीफों से नहीं कोई वास्ता, सड़के खड्डों में तब्दील होकर हो गई खस्ता |  Ajmer Breaking News: आनासागर झील के रामप्रसाद घाट पर मिली बुजुर्ग की लाश | 

उदयपुर न्यूज़: स्टॉफ की कमी से जूझ रही खाकी, झाडोल पुलिस थाना क्षेत्र का मामला

Post Views 401

February 18, 2022

उदयपुर के आदिवासी अंचल के झाडोल कस्बे में स्थित झाडोल थाना पिछले 2 वर्षों से स्टाफ की कमी से जूझ रहा है.

उदयपुर के आदिवासी अंचल के झाडोल कस्बे में स्थित झाडोल थाना पिछले 2 वर्षों से स्टॉफ की कमी से जूझ रहा है।  वहीं आए दिन अपराध बढ़ते जा रहे हैं. हालात यह है कि बड़ा मामला होने पर आसपास के थानों का जाब्ता बुलाना पड़ता है।  झाडोल विधानसभा क्षेत्र के मुख्यालय झाडोल की बात करें तो झाडोल थाना क्षेत्र में कुल 76 गांव आते हैं।  इन सभी गांवों में एक लाख से ज्यादा ग्रामीण निवास करते हैं।  इनकी सुरक्षा के लिए झाडोल थाने में 33 कांस्टेबलों की स्वीकृति तो है, लेकिन वर्तमान में उसमें से मात्र 15 कांस्टेबल कार्यरत हैं।  इन 15 कांस्टेबलों में से भी तीन की ड्यूटी पहरे होती है एक कोर्ट मुंशी के तौर पर काम करता है, चार कंप्यूटर ऑपरेटर का काम करते है तो एक कांस्टेबल सरकारी डाक को लाने ले जाने के काम में व्यस्त रहता है।   इस तरह अगर देखा जाए तो 15 में से 9 कॉस्टेबल दिनभर व्यस्त रहते हैं. फिर शेष बचे 6 कांस्टेबलों में से अवर कोई अवकाश पर चला जाए।  तो फिर एक लाख से ज्यादा आबादी की सुरक्षा के लिए मात्र 5 कांस्टेबलों ही बचते है जिनके भरोसे पूरा थाना चलता हैं। ऐसे में कानून व्यवस्था को एकाएक संभालना किसी थाना अधिकारी के लिए नामुमकिन है। 


© Copyright Horizonhind 2022. All rights reserved