For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 97492150
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: आदर्श नगर थाना अंतर्गत थाना क्षेत्र में रहने वाले परिवार ने कथित परिवार के परिचित गुरुजी पर लगाया नाबालिक से दुष्कर्म के प्रयास का आरोप, |  Ajmer Breaking News: राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आरएएस मुख्य परीक्षा- 2023 का आयोजन शनिवार से प्रारंभ,कुल 19348 कैंडिडेट्स मेन्स के लिए हैं पात्र, 972 पदों के लिए होनी है भर्ती, |  Ajmer Breaking News: महेन्द्र कुमार ढ़ाबी सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने महिला सुधार गृह का औचक निरीक्षण किया। |  Ajmer Breaking News: शासन सचिव (आयोजना) एवं जिला प्रभारी सचिव नवीन जैन के निर्देशो की अनुपालना में सांख्यिकी कार्यालय का किया निरीक्षण |  Ajmer Breaking News: किशनगढ़ एयरपोर्ट से सम्बन्धित एरोडॉªम कमेटी की बैठक शुक्रवार को जिला कलक्टर डॉ. भारती दीक्षित की अध्यक्षता में आयोजित हुई। |  Ajmer Breaking News: आज दिनांक 19 जुलाई को विप्र सेना स्थापना दिवस विप्र सेना इकाई अजमेर द्वारा वृक्षारोपण व पौधारोपण किए गए । |  Ajmer Breaking News: राजगढ़ धाम पर गुरुपूर्णिमा महोत्सव रविवार, 21 जुलाई को |  Ajmer Breaking News: दिव्यांगजन के विकास और कल्याण के लिए आर.एम.के.एम. के द्वारा किए गए नवाचारों से निति निर्माताओं को दिशा मिलेगी: डाॅ. विनय सहस्त्रबुद्धे |  Ajmer Breaking News: स्मार्ट सिटी अजमेर में युवा खिलाड़ी भी अब खेलों से हो रहे हैं महरूम ,अजमेर के एकमात्र खेल स्टेडियम पटेल मैदान में फुटबॉल ग्राउंड पर निगम ने लगाए ताले  |  Ajmer Breaking News: नागौर से अपने भांजे का जन्मदिन मनाकर अजमेर लोट रहे वकील के साथ मारपीट व लूट की वारदात | 

अजमेर न्यूज़: महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय का 11वां दीक्षान्त समारोह का भव्य आयोजन

Post Views 61

June 15, 2024

महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय का 11वां दीक्षान्त समारोह का भव्य आयोजन

महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय का 11वां दीक्षान्त समारोह का भव्य आयोजन

राज्यपाल व कुलाधिपति कलराज मिश्र ने समारोह में 45 स्वर्ण पदक, एक कुलाधिपति पदक तथा 165 पीएचडी, 98 हजार 979 उपाधियां वितरित की

शनिवार को महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के 11वें दीक्षान्त समारोह के भव्य आयोजन की अध्यक्षता राज्यपाल व कुलाधिपति कलराज मिश्र ने की। वहीं मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष वासुदेव देवनानी, विशिष्ट अतिथि उपमुख्यमंत्री प्रेमचंद बैरवा व जल संसाधन मंत्री सुरेश रावत, कुलपति प्रो. अनिल कुमार शुक्ला आदि मौजूद रहे।समारोह में 45 स्वर्ण पदक, एक कुलाधिपति पदक तथा 165 पीएचडी, 98 हजार 979 उपाधियां वितरित की गई।  इससे पहले राज्यपाल कलराज मिश्र का विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से भव्य स्वागत किया गया। उन्होंने यहां संविधान पार्क का लोकार्पण भी किया। करीब 2.5 करोड़ से बने पार्क में संविधान की उद्देशिका, पट्टिकाएं, प्रतिमा व अन्य निर्माण हुए हैं। इनमें संविधान निर्माताओं की प्रतिमा भी लगाई गई है। इसके बाद वे सभागार में पहुंचे। राष्ट्र गान के बाद सरस्वति वंदना की गई।राज्यपाल कलराज मिश्र ने संविधान की उद्देशिका पर सम्बोधित किया।

समारोह को सम्बोधित करते हुए राज्यपाल मिश्र ने कहा कि सबसे पहले बेटियों को बधाई देता हूं, जिनकी संख्या ज्यादा रही। उन्होंने कहा कि स्वर्ण पदक 46 थे, इसमें 25 यानि 55 फीसदी छात्राएं रही। इसी प्रकार पीएचडी में 165 में 89 छात्राएं यानि 54 प्रतिशत रही। उन्होंने महर्षि दयानंद सरस्वती के बारे में भी विस्तार से बताया। उनके बताए आदर्श को जीवन में उतारने का आह्वान किया। राज्यपाल मिश्र ने कहा कि हमें नई शिक्षा नीति में अनुसंधान व शोध पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। साथ ही रोजगार पैदा करने की क्षमता रखने वाली शिक्षा हो। शिक्षा ऐसी हो, जिसमें बेहतर मानव संसाधन तैयार हो। युवा शक्ति मेक इन इंडिया की तरफ आगे बढ़े। प्राचीन ज्ञान पर ध्यान दे और गुलामी की मानसिकता वाली शिक्षा से बाहर निकले। युवा शक्ति के सर्वांगीण विकास की राह आसान हो। ज्ञान के साथ अर्थ का भी योग हो। 

 विधानसभा अध्यक्ष व अजमेर उत्तर विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा कि शिक्षा से जीवन को कितना सार्थक कर सकते है, इस पर चिंतन जरूरी है। आज शिक्षित अधिक व दीक्षित कम है। भारत विश्व गुरु बनेगा और इसके लिए जीवन में कुछ मूल्य जरूरी है। राष्ट्र प्रथम का भाव जगाने वाले स्वामी दयानंद सरस्वती के नाम से यूनिवर्सिटी में भवन भी महापुरुषों के नाम से है, जो अनूठा है। उन्होंने पहले कुलपति पुरुषोत्तम चतुर्वेदी को भी याद किया। साथ ही नई शिक्षा नीति की सराहना की।

इसके अलावा समारोह को उपमुख्यमंत्री प्रेमचंद बेरवा और जल संसाधन मंत्री सुरेश रावत ने भी संबोधित किया।

समारोह में राज्यपाल ने सबसे पहले पीएचडी धारको को प्रमाण पत्र सौंपे। राज्यपाल मिश्र ने सभी से आग्रह किया कि वाणी, चर्या व व्यवहार से अपने आपको उपाधि के योग्य साबित करेंगे। समारोह में 45 स्वर्ण पदक, एक कुलाधिपति पदक तथा 165 पीएचडी, 98 हजार 979 उपाधियां वितरित की गई।


© Copyright Horizonhind 2024. All rights reserved