For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 88263839
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: जिला कलेक्ट्रेट में मुख्य सचिव ने रामदेवरा मेले को लेकर संभागीयअधिकारियों को दिए निर्देश |  Ajmer Breaking News: टेंडर जारी करने की मांग को लेकर डिस्कॉम के एवीवीएनएल पंचशील कार्यालय पर बिल्डर्स का प्रदर्शन |  Ajmer Breaking News: केंद्रीय विश्वविद्यालय में हुआ सातवां दीक्षांत समारोह |  Ajmer Breaking News: जालौर के सुराणा गांव में दलित छात्र की हत्या के मामले में दलित संगठनों में आक्रोश |  Ajmer Breaking News: श्री श्याम सेवक कल्याण संघ के तत्वाधान में 17 अगस्त को कृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर होगा श्याम भजन संध्या का भव्य आयोजन |  Ajmer Breaking News: जालौर के सायला थाना अंतर्गत सुराणा गांव के दलित छात्र की हत्या के आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर विभिन्न संगठनों ने दिये ज्ञापन |  Ajmer Breaking News: अनुसूचित जाति जनजाति अधिकार मंच ने मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन |  Ajmer Breaking News: पुरानी आरपीएससी के बाहर श्री अंजनी डेयरी बूथ के टूटे ताले |  Ajmer Breaking News: खत्री सभा अजमेर का शताब्दी वर्ष समारोह मनाया बड़े ही हर्षोल्लास से |  Ajmer Breaking News: विभिन्न संस्थाओं, स्कूलों व्यापारी संघों द्वारा झंडारोहण कर मनाया गया स्वतंत्रता दिवस समारोह | 

अजमेर न्यूज़: बाल श्रम के कारणों जोखिमों और दुष्प्रभावों पर कार्यशाला के साथ जिला कलेक्टर को सौंपा मांगपत्र

Post Views 401

June 28, 2022

सीएसीएल राजस्थान, सेव द चिल्ड्रन, दिशा आरसीडी, चाइल्डलाइन, लेबर डिपार्टमेंट सहित अन्य स्वयंसेवी संस्था हुई शामिल

बाल श्रम की रोकथाम और इसके दुष्प्रभावों के बारे में जन जागरण अभियान के लिए प्रत्येक वर्ष 12 जून को अंतरराष्ट्रीय बाल श्रम निषेध दिवस मनाया जाता है। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए सेव द चिल्ड्रन संस्था द्वारा जिले के विभिन्न सरकारी और गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों, पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों, समुदाय के सदस्यों जिनमें बच्चे भी शामिल हैं की उपस्थिति में बाल श्रम के कारणों जोखिमों और दुष्प्रभावों पर चर्चा के लिए एक वर्कशॉप का आयोजन दिशा 
आरसीडी में किया गया।
सेव द चिल्ड्रन संस्था के एजाज अहमद ने बताया कि वर्कशॉप में की गई चर्चाओं के बाद एक मांग पत्र तैयार किया गया। जिसे सीएसीएल राजस्थान, सेव द चिल्ड्रन संस्थाओं के संयुक्त तत्वाधान में जिला कलेक्टर को बच्चों द्वारा ही सौंपा गया है। जिला कलेक्टर को बच्चों द्वारा सौंपे गए मांग पत्र में बाल श्रम को समाप्त करने की दिशा में शीघ्र कार्रवाई कर बाल श्रम और बाल मजदूरी से मुक्त हुए बच्चों की शिक्षा पुनर्वास और उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ने जैसे मुद्दों पर कार्रवाई की मांग की गई है।ग्रामीण एवं सामाजिक विभाग के प्रोग्राम डायरेक्टर अभय सिंह ने बताया कि सभी उद्योगों से उत्पादित होने वाले उत्पादों पर बाल श्रम मुक्त होने की सूचना प्रदर्शित की जाए,, सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान उद्योग, होटल, रेस्टोरेंट संचालक अपने प्रतिष्ठानों के बाहर बाल श्रम मुक्त होने की स्वघोषणा प्रदर्शित करें, जिन बच्चों के पास पहचान के दस्तावेज नहीं है उनको भी शिक्षा से जोड़ा जाए ताकि वह बाल श्रम में फिर से लिप्त ना हो, जिला टास्क फोर्स माह में 1 दिन बाजारों में व औद्योगिक इकाइयों में बाल श्रम का निरीक्षण करें और इसकी रिपोर्ट साझा करें, बाल श्रम रोकथाम की कार्रवाई को सहज और सरल बनाया जाए ताकि बाल श्रम की रोकथाम की कार्यवाही ज्यादा लंबी ना हो। जिला स्तर पर बाल श्रम पुनर्वास फंड के तहत बच्चों को बालश्रम से मुक्त होने पर मुआवजा राशि मिले, बाल श्रम संरक्षण कमेटी को सक्रिय करना व समय-समय पर प्रशिक्षण करना भी जरूरी है। कार्यस्थल पर बच्चों के लिए क्रेच की व्यवस्था की जाए। बालश्रम में पाए गए बच्चों के अभिभावकों के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाए जाएं जैसी मांगें शामिल हैं।


© Copyright Horizonhind 2022. All rights reserved