For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 84224321
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: 97 ग्राम सोना लेकर फरार हुआ बंगाली आभूषण कारीगर आखिर चढ़ा पुलिस के हत्थे |  Ajmer Breaking News: राजस्थान को ऑपरेटिव बैंक एंप्लाइज यूनियन ऑफिसर एसोसिएशन यूनिट आम सभा की बैठक |  Ajmer Breaking News: परमवीर चक्र विजेता मेजर शैतान सिंह राजपूत की जयंती पर समारोह का आयोजन |  Ajmer Breaking News: नगर निगम के सामने स्कूटी से महिला का पर्स चोरी |  Ajmer Breaking News: शनि अमावस्या पर शनि मंदिरों में शनि भक्तों ने की विशेष पूजा अर्चना |  Ajmer Breaking News: अजयमेरु भवन निर्माण यूनियन की ओर से लगाया गया ई श्रमिक कार्ड पंजीयन शिविर |  Ajmer Breaking News: उत्पाती बंदरों के आतंक से अब मिलेगा छुटकारा, नगर निगम द्वारा बंदर पकड़ने के लिए फर्म से किया अनुबंध |  Ajmer Breaking News: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने एमडीएस कुलपति को सौंपा ज्ञापन |  Ajmer Breaking News: नगर निगम द्वारा वार्ड 74 और 77 के लिए लगाया गया प्रशासन शहरों के संग शिविर |  Ajmer Breaking News: छात्र संघ चुनाव कराने की मांग को लेकर छात्रों ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन | 

अजमेर न्यूज़: सुहाग की दीर्घायु और परिवार की खुशहाली के लिए विवाहिताओं ने रखा करवाचौथ का व्रत

Post Views 101

October 24, 2021

शहर भर में विभिन्न समाजों में महिलाओं ने धूमधाम से मनाया करवाचौथ का पर्व

सुहाग की दीर्घायु और परिवार की खुशहाली के लिए विवाहिताओं ने रखा करवाचौथ का व्रत शहर भर में विभिन्न समाजों में महिलाओं ने धूमधाम से मनाया करवाचौथ का पर्व साल में एक बार अपने सुहाग की दीर्घायु व परिवार में खुशहाली के लिए रखा जाने वाला करवा चौथ का व्रत रविवार को सुहागिन महिलाओं ने रखकर चौथ माता की पूजा की। अजमेर में ऋषि घाटी घाटी वाले बालाजी मंदिर के पास लगभग डेढ़ सौ साल पुराने चौथ माता के मंदिर में शहर भर के अलग-अलग इलाकों की महिलाओं ने पहुंचकर चौथ माता की पूजा अर्चना करते हुए अपने परिवार और पति की दीर्घायु की कामना की। विवाहिताओं ने बताया कि साल में एक बार करवा चौथ का कठिन व्रत होता है जिसमें निर्जला और निराहार रहकर पूरे दिन व्रत किया जाता है। रात को चंद्र भगवान के दर्शन कर अर्घ देने के बाद पति के हाथों से पानी पीकर व्रत खोला जाता है। इसके बाद ही आहार ग्रहण करते हैं। सुहागिनों द्वारा इस पर्व पर व्रत रखना और पति की दीर्घायु होने की कामना करना, शाम को चौथ माता की पूजा-अर्चना और चंद्रमा को अर्घ्य अर्पित कर व्रत खोलना यह पर्व सचमुच में महिलाओं को आनंद से सराबोर कर देता है। इसी तरह अजयनगर पिपलेश्वर महादेव मंदिर के उपासक पंडित राजू महाराज ने बताया कि करवाचौथ के पावन पर्व पर महिलाएं पूरे दिन ‘निर्जला’ (बिना पानी) और ‘निराहार’ (बिना भोजन) व्रत रखती हैं। व्रत रखने वाली महिलाएं चंद्रमा को देखकर अर्घ्य देकर पूजन करने के बाद अपने पति का दर्शन कर उसके हाथों से पानी पीकर व्रत खोलती हैं। करवाचौथ का व्रत विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और खुशहाली के लिए करती है। करवा चौथ व्रत में चंद्रमा का दर्शन का अति महत्वपूर्ण होता है। बिना चंद्र दर्शन के यह व्रत अधूरा माना जाता है।


© Copyright Horizonhind 2021. All rights reserved