For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 82833925
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: तेजा दशमी पर इस साल भी रहा कोरोना का ग्रहण, नहीं भरा तेजाजी मंदिर पर मेला |  Ajmer Breaking News: चित्रकूट अखण्ड आश्रम की रसोई में निकला विषैला स्पेक्टिकल कोबरा सांप |  Ajmer Breaking News: पुरानी मंडी सोलथम्बा धर्मशाला के पीछे जर्जर मकान की दीवार ढही |  Ajmer Breaking News: 2 अक्टूबर से लगने वाले प्रशासन शहरों के संग अभियान की सफलता पर संदेह |  Ajmer Breaking News: झूलेलाल मंदिर डिग्गी चौक के पीछे खड़ी मारुति ईको कार से अज्ञात चोरों ने चुराया साइलेंसर |  Ajmer Breaking News: रामगंज थाने में दो अलग-अलग चोरी के मुकदमे दर्ज |  Ajmer Breaking News: जिला प्रमुख सुशील कंवर पलाडा,ने जनसुनवाई में प्राप्त प्रकरणों के तत्काल निस्तारण के दिये निर्देश |  Ajmer Breaking News: पुलिस मुख्यालय व पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर दरगाह थाने में खुली जनसुनवाई का शुरू हुआ आयोजन |  Ajmer Breaking News: आवासीय नक्शे पर व्यवसायिक निर्माण के खिलाफ निगम टेन ए नोटिस देने के बावजूद नहीं कर रहा कार्रवाई |  Ajmer Breaking News: अखिल भारतीय गाड़िया लोहार विकास समिति के बैनर तले लोहारों को पट्टे देने की मांग | 

Andaze-e-bayan News:

July 3, 2021

अंदाजे बयां: समय दुश्वारियां गिनवा रहा था, कई मजबूरियाँ गिनवा रहा था।

अंदाजे बयां: समय दुश्वारियां गिनवा रहा था, कई मजबूरियाँ गिनवा रहा था।

April 27, 2021

अंदाजे बयां: आँखों के साहिल पर दर्द डुबोते हुए, तुझमें रह कर उम्र कट गई रोते हुए।

अंदाजे बयां: आँखों के साहिल पर दर्द डुबोते हुए, तुझमें रह कर उम्र कट गई रोते हुए। सुरेन्द्र चतुर्वेदी

April 26, 2021

अंदाजे बयां: मनमानी का ज़िक्र हुआ मैं रो बैठा, सुल्तानी का ज़िक्र हुआ मैं रो बैठा।

अंदाजे बयां: मनमानी का ज़िक्र हुआ मैं रो बैठा, सुल्तानी का ज़िक्र हुआ मैं रो बैठा। जिसकी प्यास में हुईं नमाज़ें नेज़ों पर, सुरेन्द्र चतुर्वेदी

April 26, 2021

अंदाजे बयां: जब से चेहरा देखा है दीवाने का, याद हो गया है रस्ता वीराने का।

अंदाजे बयां: जब से चेहरा देखा है दीवाने का, याद हो गया है रस्ता वीराने का। मन्दिर,मस्जिद गिरिजाघर गुरुद्वारे बन्द, सुरेन्द्र चतुर्वेदी

April 19, 2021

अंदाजे बयां: उसकी गली में जाना मेरा, वो ही शौक़ पुराना मेरा।

अंदाजे बयां: उसकी गली में जाना मेरा, वो ही शौक़ पुराना मेरा। कुछ दिन रह कर चले गए तो, लौट आया वीराना मेरा।

April 18, 2021

अंदाजे बयां: सच कहने का पास हुनर था, इसीलिए नेज़े पर सर था।

अंदाजे बयां: सच कहने का पास हुनर था, इसीलिए नेज़े पर सर था। चारों ओर था गहरा पानी, जिन आँखों में मेरा घर था।

April 12, 2021

अंदाजे बयां: मुझको मेरा घर सुनता है, शायर को शायर सुनता है।

अंदाजे बयां: मुझको मेरा घर सुनता है, शायर को शायर सुनता है। ख़तरों की हर ख़ामोशी को, अंदर बैठा डर सुनता है।

April 5, 2021

अंदाजे बयां: बड़ी मुश्किल से जो दरिया हुआ था, बदन में उसके सहरा चीख़ता था

अंदाजे बयां: बड़ी मुश्किल से जो दरिया हुआ था, बदन में उसके सहरा चीख़ता था। मैं अपनी जेब से ही गिर गया था, मुझे रूमाल मेरा ढूँढता था।

March 31, 2021

अंदाजे बयां: पत्थर से जब सर बचता है

अंदाजे बयां: पत्थर से जब सर बचता है, थोड़ा और सफ़र बचता है। (सुरेन्द्र चतुर्वेदी)

March 30, 2021

अंदाजे बयां: तन्हाई ने मना किया था

अंदाजे बयां: तन्हाई ने मना किया था, तब भी मैं बेज़ार हुआ था। (सुरेन्द्र चतुर्वेदी)

March 30, 2021

अंदाजे बयां: करके देखा है भरोसा यार लोगों का ,

अंदाजे बयां: करके देखा है भरोसा यार लोगों का, खेल देखा जिस तरह ग़द्दार लोगों का। (सुरेन्द्र चतुर्वेदी)

March 28, 2021

अंदाजे बयां: ज़िन्दा मुझको गाड़ दिया था ,

अंदाजे बयां: ज़िन्दा मुझको गाड़ दिया था, ये भी मेरे साथ हुआ था। (सुरेन्द्र चतुर्वेदी)




Google Ads


Horizon Career Consultant
ABS Hospital
Vijay Bakery

Video Gallery


Google Ads

© Copyright Horizonhind 2021. All rights reserved