For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 74434182
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: विद्यालय सनवा में सघन पौधारोपण कार्यक्रम |  Ajmer Breaking News: कोरोना काल में किये गए सेवाकार्यो की ई बुक का अवलोकन |  Ajmer Breaking News: कोरोना से लापरवाह लोगो पर की प्रशासन ने कार्यवाही |  Ajmer Breaking News: सीएम गहलोत की कुशल रणनीति के आगे विरोधी पायलट ने मानी हार |  Ajmer Breaking News: बारिस होने से मौसम हुआ सुहाना, जन मन हुआ प्रसन्न |  Ajmer Breaking News: लाखों खर्च करके डिग्री ली, अब सरकार के निर्णय से मिला धोखा |  Ajmer Breaking News: पुलिस को गुमराह कर चरित्र प्रमाण पत्र लेकर चुनाव लडने का आरोप |  Ajmer Breaking News: प्रधानमंत्री के आव्हान पर स्वच्छता पखवाड़े के तहत चलाया गया सफाई अभियान |  Ajmer Breaking News: स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर रखते हुए शहर के विभिन्न क्षेत्रों में हुई नाकाबंदी |  Ajmer Breaking News: जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में कोरोना से आज फिर एक महिला की मौत | 

क़लमकार: क्या कांग्रेस भाजपा के खिलाफ विरोध की लहर का फायदा उठाने से चूक जाएगी ?

Post Views 64

November 28, 2018

वसुन्धरा सरकार और अजमेर के दोनों मंत्रियों के पंद्रह साल के शासन स्वरूप उपजी विरोध की लहर के चलते ऐसी धारणा बनी थी कि इस बार कांग्रेस की लहर है और उसकी सरकार बन सकती है।

वासुदेव देवनानी की तुनक मिजाजी , अनीता भदेल का अतिक्रमणों का समर्थन और गिनती बढ़ाने का विकास और वसुन्धरा जी से सरकारी कर्मचारियों की नाराजगी ने मेरे विचार से कांग्रेस की जीत के आसार पक्के कर दिए थे या पक्के कर दिए हैं क्योंकि भविष्य का अभी फैसला नहीं हुआ है।


बीजेपी की विरोधी लहर में जिस तरह कमर कसकर कांग्रेस और देवनानी के खिलाफ ब्राह्मणों को मैदान में उतरना था वे नहीं उतरे हैं।

मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि अपरोक्ष रूप से सचिन पायलट और अशोक गहलोत में अन्दर ही अन्दर शीत युद्ध जारी है।दोनों यह अवश्य चाहते होंगे कि उनके समर्थक ज्यादा से ज्यादा संख्या में जीतें इसका यह अर्थ भी लगा सकते हैं कि सामने वाले का समर्थक हार जाए।

वास्तव में एक बात मैं आपका बता दूं कि राहुल गांधी में नेतृत्व क्षमता का वो हुनर कभी रहा ही नहीं कि वो हालातों पर काबू पा सके।

ये तो हुई कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व की बात। अब आइए स्थानीय कांग्रेस की बात कर लें।

मैंने महसूस किया कि स्थानीय कांग्रेस में छोटे छोटे टापू बने हुए हैं।

इन छोटे छोटे टापुओं पर अलग अलग खेमों के अलग अलग झंडे लहरा रहे हैं।

ऐसी आशंका है सेनापति बनने की होड़ में सभी एक दूसरे को काट कर धराशाई हो जाएंगे और फिर ढूंढे से भी कोई सेनापति नजर नहीं आएगा और ताज एक बार फिर भाजपा की झोली में जा गिरेगा।

क्या भाजपा के खिलाफ विरोध की लहर का फायदा कांग्रेस उठाने से चूक जाएगी ?

जयहिंद।

राजेन्द्र सिंह हीरा

       अजमेर


Latest News

August 11, 2020

विद्यालय सनवा में सघन पौधारोपण कार्यक्रम

Read More

August 11, 2020

कोरोना काल में किये गए सेवाकार्यो की ई बुक का अवलोकन

Read More

August 11, 2020

कोरोना से लापरवाह लोगो पर की प्रशासन ने कार्यवाही

Read More

August 11, 2020

सीएम गहलोत की कुशल रणनीति के आगे विरोधी पायलट ने मानी हार

Read More

August 11, 2020

बारिस होने से मौसम हुआ सुहाना, जन मन हुआ प्रसन्न

Read More

August 11, 2020

लाखों खर्च करके डिग्री ली, अब सरकार के निर्णय से मिला धोखा

Read More

August 11, 2020

पुलिस को गुमराह कर चरित्र प्रमाण पत्र लेकर चुनाव लडने का आरोप

Read More

August 11, 2020

मुन्नी बदनाम हुई .... डार्लिंग तेरे लिए

Read More

August 11, 2020

दुनिया को कहा अलविदा लेकिन इन शेरो-शायरी के बूते हमेशा जीवित रहेंगे राहत इंदौरी

Read More

August 11, 2020

Bulandshahr News: छेड़खानी के दौरान अमेरिका में पढ़ने वाली छात्रा की मौत, मिली थी 4 करोड़ की स्कॉलरशिप

Read More

© Copyright Horizonhind 2020. All rights reserved