For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 74434534
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: विद्यालय सनवा में सघन पौधारोपण कार्यक्रम |  Ajmer Breaking News: कोरोना काल में किये गए सेवाकार्यो की ई बुक का अवलोकन |  Ajmer Breaking News: कोरोना से लापरवाह लोगो पर की प्रशासन ने कार्यवाही |  Ajmer Breaking News: सीएम गहलोत की कुशल रणनीति के आगे विरोधी पायलट ने मानी हार |  Ajmer Breaking News: बारिस होने से मौसम हुआ सुहाना, जन मन हुआ प्रसन्न |  Ajmer Breaking News: लाखों खर्च करके डिग्री ली, अब सरकार के निर्णय से मिला धोखा |  Ajmer Breaking News: पुलिस को गुमराह कर चरित्र प्रमाण पत्र लेकर चुनाव लडने का आरोप |  Ajmer Breaking News: प्रधानमंत्री के आव्हान पर स्वच्छता पखवाड़े के तहत चलाया गया सफाई अभियान |  Ajmer Breaking News: स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर रखते हुए शहर के विभिन्न क्षेत्रों में हुई नाकाबंदी |  Ajmer Breaking News: जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में कोरोना से आज फिर एक महिला की मौत | 

क़लमकार: लगता है दीपक हासानी जी उम्मीद छोड़ चुके हैं

Post Views 34

November 10, 2018

लगता है दीपक हासानी जी उम्मीद छोड़ चुके हैं ! 

राजस्थान के विधानसभा चुनावों में एक महीने से भी कम का समय रह गया है।

भाजपा के दोनों संभावित उम्मीदवारों ने बिना इस बात का इंतज़ार किए कि उन्हें टिकट मिलती है या नहीं घर घर जाकर प्रचार करना शुरू कर दिया।

आखिर व्यक्ति से पहले पार्टी सर्वोपरि होती है।

वहीं दूसरी तरफ अजमेर उत्तर से कांग्रेस और सिन्धी समाज के नुमाइंदे और सम्भावित प्रत्याशी दीपक हासानी जी हैं।

ये भले ही राजनीति के अखाड़े में नए नए आए हैं पर राजनीति की  समझ इनमें न के बराबर  है।

सोशल मीडिया पर मैंने इनकी पहली चार लाइनें पढ़ी जिनमें व्याकरण की  8 गलतियां थीं।

इन्होंने अपना प्रचार प्रसार जिसे भी सौंप रखा है उसकी 

काबलियत इसी बात से पता चलती है कि उसने मुसलमान भाइयों को मुहर्रम की बधाई दे दी।

सही काम के लिए सही व्यक्ति को चुनना भी एक गुण होता है।

पर विरले ही इसमें पारंगत होते हैं।

मुझे लगता है दीपक हासानी को एक नकारात्मक  वातावरण ने घेर रखा है जो बाहर से ना तो ठंडी हवा को अन्दर जाने दे रहा है और ना ही अन्दर की गर्मी को बाहर आने दे रहा है।

इस घेरे में दीपक जी अन्दर ही अन्दर झुलस कर रह गए हैं। अब यह उनकी मजबूरी है या कुछ और , वे ही जाने।

मुझे ऐसा लगता है कि दीपक जी ने मन बना लिया है कि टिकट मिलने के बाद ही काम करेंगे जो कि बहुत ही घातक सोच है।

इस सोच से स्वार्थ को बू आती है। दीपक जी कांग्रेस के कार्यकर्त्ता हैं उन्हें टिकट मिले या न मिले पार्टी के लिए तो उन्हें काम करना ही चाहिए।

कहीं ऐसा तो नहीं दीपक हासानी जी टिकट की उम्मीद ही छोड़ चुके हों।


Latest News

August 11, 2020

विद्यालय सनवा में सघन पौधारोपण कार्यक्रम

Read More

August 11, 2020

कोरोना काल में किये गए सेवाकार्यो की ई बुक का अवलोकन

Read More

August 11, 2020

कोरोना से लापरवाह लोगो पर की प्रशासन ने कार्यवाही

Read More

August 11, 2020

सीएम गहलोत की कुशल रणनीति के आगे विरोधी पायलट ने मानी हार

Read More

August 11, 2020

बारिस होने से मौसम हुआ सुहाना, जन मन हुआ प्रसन्न

Read More

August 11, 2020

लाखों खर्च करके डिग्री ली, अब सरकार के निर्णय से मिला धोखा

Read More

August 11, 2020

पुलिस को गुमराह कर चरित्र प्रमाण पत्र लेकर चुनाव लडने का आरोप

Read More

August 11, 2020

मुन्नी बदनाम हुई .... डार्लिंग तेरे लिए

Read More

August 11, 2020

दुनिया को कहा अलविदा लेकिन इन शेरो-शायरी के बूते हमेशा जीवित रहेंगे राहत इंदौरी

Read More

August 11, 2020

Bulandshahr News: छेड़खानी के दौरान अमेरिका में पढ़ने वाली छात्रा की मौत, मिली थी 4 करोड़ की स्कॉलरशिप

Read More

© Copyright Horizonhind 2020. All rights reserved