For News (24x7) : 9829070307
RNI NO : RAJBIL/2013/50688
Visitors - 78861940
Horizon Hind facebook Horizon Hind Twitter Horizon Hind Youtube Horizon Hind Instagram Horizon Hind Linkedin
Breaking News
Ajmer Breaking News: 200 वर्ष पुराने बाटा तिराहे को बचाने की गुहार, मुख्यमंत्री के नाम चलाया हस्ताक्षर अभियान |  Ajmer Breaking News: मन के जज़्बे ओर हौंसले से शारीरिक परेशानी को दी मात |  Ajmer Breaking News: अतिरिक्त मुख्य सचिव सुधांशु पंथ ने भूजल विभाग के संभाग अधिकारियों की ली बैठक |  Ajmer Breaking News: #COVID19 के खिलाफ़ वैक्सीनेशन के क्रम में अपनी पत्नी के साथ एसएमएस मेडिकल कॉलेज में  #CovidShield टीका लगवाया |  Ajmer Breaking News: प्रदेश के राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज हो रावणा राजपूत के नाम से संबोधन:- भागीरथ चौधरी |  Ajmer Breaking News: कोरोना तथा गुडटच-बेडटच जागरूकता रैली आयोजित |  Ajmer Breaking News: अजमेर डिस्कॉम का विशेष राजस्व वसूली अभियान , |  Ajmer Breaking News: विभिन्न मांगों को लेकर पटवारियो की पेन डाउन हड़ताल जारी |  Ajmer Breaking News: मेडिकल दुकानदारो को डराने वाले फर्जी ड्रग इंस्पेक्टर को दबोचा |  Ajmer Breaking News: त्रिशला वीरा केन्द्र के सहयोग से बच्चों को शूज वितरित | 

राजस्थान न्यूज़: सोमवार से खुलने हैं स्कूल

Post Views 141

January 16, 2021

18 जनवरी से 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों की रौनक लौटेगी

10 महीने से अधिक समय से सुनसान पड़े स्कूलों में 18 जनवरी से 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों की रौनक लौटेगी। कोटा जिले में 316 सरकारी स्कूल हैं। इनमें करीब 50 हजार विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। आरबीएसई व सीबीएसई के 540 निजी स्कूल में करीब 50 हजार से अधिक विद्यार्थी अध्यनरत हैं, यानी कुल 856 स्कूलों में 1 लाख से अधिक विद्यार्थी स्कूलों का रुख करेंगे।





स्कूलों ने नई गाइड लाइन के मुताबिक तैयारियां शुरू कर दी है। लेकिन कई सरकार स्कूल ऐसे हैं जिनमें तैयारियों के नाम पर केवल खानापूर्ति चल रही है। स्कूल में ना तो सैनिटाइजेशन हुआ है। ना ही क्लास रूम में सफाई हुई है।





सोशल डिस्टेंसिंग के तहत विद्यार्थियों के बैठने के लिये कुर्सी टेबल भी नहीं लगाई गई है। जिले के कई स्कूलों में तो विद्यार्थियों के बैठने के लिए कमरा ही नहीं है। विद्यार्थियों को या तो बरामदे में बैठाया जाता है या स्कूल के खुले परिसर में टीन शेड के नीचे बैठाया जाता है।





सबसे पहले बात राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय नयापुरा बाग की तो, यहां 9वीं से 12 वीं तक 166 बालिका है। स्कूल में विद्यार्थियों के बैठने के लिए 12 कमरे हैं। शुक्रवार तक इन कमरों में सैनिटाइजेशन का काम नहीं हुआ।






कमरों की सफाई भी नहीं हुई। कमरों में कुर्सी टेबल भी तीतर-बितर रखे हुए थे। स्कूल टीचर रंजना ने बताया कि चतुर्थ श्रेणी कमर्चारी के अवकाश पर होने से कमरों की साफ सफाई नहीं हुई। शाम तक सभी कमरों की सफाई करवा दी जाएगी। स्कूल में स्टैंडिंग सैनिटाइजर मशीन है। स्कूल आने पर विद्यार्थियों के हाथ सैनिटाइज करवाये जाएंगे। सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए एक क्लास में 9 से 10 विद्यार्थियों को ही बैठाया जाएगा।






राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सिविल लाइन में 9 वीं से 12 वीं तक के करीब 100 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। स्कूल में करीब 23 कमरे है। कमरों में लगभग 30 विद्यार्थियों के बैठने की व्यवस्था है। शुक्रवार को यहां एक कमरे में कुछ विद्यार्थियों को पढ़ाया जा रहा था। कमरे में सोशल डिस्टेंसिंग के कुर्सी टेबल लगाई हुई थी।






जिन पर बैठ कर विद्यार्थी पढ़ रहे थे। लेकिन बाकी कमरों में अभी तक व्यवस्था नहीं की गई। स्कूल प्रिंसिपल शिवकुमार अग्रवाल ने बताया कि स्कूल में एक बार मे एक तिहाई विद्यार्थियों को ही बुलाया जाएगा। यानी एक क्लास में 30 विद्यार्थियों में से 10 विद्यार्थियों को स्कूल में बैठाया जाएगा। इस हिसाब से एक विद्यार्थी एक सप्ताह में दो बार ही स्कूल में पढ़ने आएगा।





18 जनवरी को स्कूल खोलने की तैयारियों को लेकर डीईओ, माध्यमिक, गंगाधर मीणा ने शनिवार को गुमानपुरा मल्टीपरपज स्कूल में कोटा शहर के प्रिंसिपलों की बैठक बुलाई है। उसमें गाइडलाइन की सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए जाएंगे। शनिवार को ही पेरेन्ट्स मिटिंग भी बुलाई है। जिसमें बच्चों के स्कूलों में आने की अभिभावकों से स्वीकृति ली जाएगी।


© Copyright Horizonhind 2021. All rights reserved